September 29, 2022

ExpressNews24x7

Leading News Channel Expressnews24x7

उत्तराखंड में 60 साल से अधिक आयु वालों को कब से लगेगी बूस्टर डोज, सीएम ने क्या दिए निर्देश

Spread the love

उत्तराखंड में कोरोना और इसके नए वैरिएंट ओमिक्रोन (Omicron Variant) के संक्रमण की रोकथाम के लिए सरकार सक्रिय हो गई है। इस कड़ी में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शुक्रवार शाम को अपने आवास पर टीकाकरण की कार्ययोजना समीक्षा की। बताया गया कि तीन जनवरी से 15 से 18 वर्ष की आयु के लगभग 6.50 लाख बच्चों के टीकाकरण को अभियान चलाया जाएगा। इसके साथ ही 10 जनवरी से 60 साल से अधिक आयु के व्यक्तियों और स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं व फ्रंटलाइन वर्कर को बूस्टर डोज (Booster Dose) लगाने का क्रम शुरू किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि अन्य राज्यों से आने वाले व्यक्तियों के लिए रेलवे स्टेशन व हवाई अड्डों पर जांच की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। उधर, मुख्यमंत्री धामी ने राज्यवासियों के नाम जारी अपील में कहा कि कोरोना अभी गया नहीं है। अभी भी हर दिन औसतन 30 से 50 मामले आ रहे हैं, जबकि शुक्रवार को यह संख्या 88 रही। 

मुख्यमंत्री ने समीक्षा बैठक में कहा कि सभी संबंधित विभागों के समेकित प्रयासों से हम कोरोना की पहली व दूसरी लहर का सामना करने में सफल हुए हैं। कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन का प्रभाव भी धीरे-धीरे बढ़ता दिख रहा है। ऐसे में सभी अस्पतालों में व्यवस्थाएं कर ली जाएं। उन्होंने इसे बेहद गंभीरता से लेने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि राज्य में कोरोनारोधी वैक्सीन की दूसरी डोज शत-प्रतिशत लगाने के लिए अभियान चलाया जाए।

मुख्यमंत्री ने सभी जिलाधिकारियों, शिक्षा, प्राविधिक शिक्षा सहित अन्य विभागों को निर्देश दिए कि वे तीन जनवरी से शुरू होने वाले 15 से 18 वर्ष तक की आयु के बच्चों के टीकाकरण अभियान की प्रभावी कार्ययोजना तत्काल तैयार कर लें। साथ ही एक दिन में एक लाख वैक्सीन लगाने का लक्ष्य निर्धारित करने और इसके लिए व्यापक जनजागरूकता पर जोर दिया। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में स्थापित किए जाने वाले डायलिसिस सेंटरों की स्थापना एक सप्ताह के भीतर करने के निर्देश देते हुए कहा कि इसके लिए सभी आवश्यक अवस्थापना सुविधाएं व मानव संसाधन की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाए।स्वास्थ्य मंत्री डा धन सिंह रावत ने कहा कि बच्चों के टीकाकरण के लिए विधानसभा क्षेत्रों के स्कूलों में तीन जनवरी से व्यवस्था सुनिश्चित की जानी है। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि जिन अस्पतालों में वार्ड ब्वाय के पद खाली हैं, वहां आउटसोर्स से व्यवस्था की जाए। सचिव स्वास्थ्य डा पंकज कुमार पांडेय ने जिलाधिकारियों से बच्चों के टीकाकरण अभियान के सफलतापूर्वक संचालन को प्रभावी कार्ययोजना के साथ कार्य करने और इसके लिए हफ्ते में दो दिन महाभियान के रूप में चलाने को भी कहा। उन्होंने जिलाधिकारियों से अपेक्षा की कि टीकाकरण में सभी बच्चे शामिल हों, इसकी व्यवस्था की जाए। वैक्सीनेशन के लिए कोवैक्सीन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराई जा रही है।

About Post Author


Spread the love