October 6, 2022

ExpressNews24x7

Leading News Channel Expressnews24x7

भूकंप के झटकों से डोली उत्‍तराखंड की धरती, भारत-नेपाल सीमा था केंद्र

Spread the love

भूकंप के झटकों से एक बार फिर उत्‍तराखंड की धरती डोल गई। बुधवार की रात 12 बजकर 39 मिनट पर भूकंप का झटका महसूस किया गया। अधिकांश लोगों के नींद में होने से इसका आभास नहीं हुआ।

भूकंप के झटकों से एक बार फिर उत्‍तराखंड की धरती डोल गई। बुधवार की रात 12 बजकर 39 मिनट पर भूकंप का झटका महसूस किया गया। अधिकांश लोगों के नींद में होने से इसका आभास नहीं हुआ। जिला आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार भूकंप की तीव्रता 4.1 मैग्नीट्यूट थी। इसका केंद्र भारत-नेपाल सीमा थी। भूकंप की गहराई 10 किमी बताई जा रही है। भूकंप से किसी तरह के नुकसान की सूचना नहीं है।

भूकंप के लिहाज से उत्तराखंड संवेदनशील है। बागेश्‍वर जिला भूकंप की दृष्टि से बेहद संवेदनशील माना जाता है। इसी साल 12 फरवरी को भी उत्तराखंड के कई इलाकों में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे।हिमालयी क्षेत्रों में ग्लेशियरों के लिए भी छोटे भूकंप खतरा बन सकते हैं। ढाई से तीन रिक्टर स्केल तक भूकंप आना आम बात है। इतनी कम तीव्रता के भूकंप महसूस नहीं होते हैं, लेकिन ये ग्लेशियरों में कंपन पैदा कर उनको कमजोर बनाते हैं, जिससे ग्लेशियर धीरे-धीरे कमजोर पड़ जाते हैं। ऐसे में बड़ा भूकंप आने की दशा में ग्लेशियरों के टूटने की आशंका ज्यादा रहती है।

About Post Author


Spread the love