September 29, 2022

ExpressNews24x7

Leading News Channel Expressnews24x7

मतदान खत्म होने के बाद खुली भारत-नेपाल सीमा, आवागमन शुरू होने से लौटी रौनक

Spread the love

विधानसभा निर्वाचन के मद्देनजर 11 फरवरी को बंद भारत-नेपाल सीमा मंगलवार को खोल दी गई। इससे पिथौरागढ़ व चम्पावत जिलों के नेपाल सीमा से लगे बाजार व कस्बों में चहल-पहल भी बढ़ गई। दोनों देशों के बीच व्यापार भी पूर्व की भांति शुरू हो गया। 

11 फरवरी को भारत-नेपाल को जोडऩे वाले अंतरराष्ट्रीय झूला पुल व मोटर पुल बंद हो गए थे। आवाजाही बंद होने से तो नेपाली ग्राहकों पर निर्भर भारतीय बाजार व कस्बों में भी वीरानी छा गई। पिथौरागढ़ जिले में सात झूला पुल सीता पुल, एलागाड़, धारचूला, बलुवाकोट, जौलजीबी, ड्यौड़ा और झूलाघाट हैं। वहीं चम्पावत में बनबसा व टनकपुर में मोटर पुलों से आवाजाही होती है।

मंगलवार सुबह से ही नेपाली नागरिक भारतीय बाजारों में खरीदारी करने पहुंचने लगे। इसके चलते भारतीय दुकानदारों के चेहरे भी खिले रहे। इधर, चम्पावत जिले में टनकपुर शारदा बैराज, बनबसा मोटर पुल, पंचेश्वर में सैकड़ों लोगों की आवाजाही हुई। सीमा बंद होने से मां पूर्णागिरि के दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालु भी नेपाल के ब्रहमदेव मंडी स्थित सिद्धनाथ मंदिर के दर्शन नहीं कर पा रहे थे। मंगलवार को श्रद्धालुओं ने सिद्धबाबा के भी दर्शन किए।

बनबसा(चम्पावत): विधायक व चम्पावत सीट से प्रत्याशी कैलाश गहतोड़ी ने कहा कि इस बार चुनाव में उनके लिए भीतरघात हुआ है। पार्टी फोरम में संगठन के ऐेसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करूंगा। विधानसभा के लिए सोमवार को हुए मतदान के बाद मंगलवार को गहतोड़ी ने बनबसा स्थित अपने कार्यालय में कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। इसके बाद पत्रकारों से वार्ता में कहा कि संगठन के कुछ लोगों ने ही भीतरघात किया है। हालांकि विधायक ने किसी का नाम नहीं लेते हुए मतदान के लिए क्षेत्र की जनता का आभार जताया। इधर, विधायक के आरोप पर भाजपा जिलाध्यक्ष दीप चंद्र पाठक ने कहा है गहतोड़ी को संगठन के ऐसे भीतरघात करने वाले लोगों का नाम उजागर करना चाहिए। यदि वह लिखित में शिकायत देते हैं तो पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को भी अवगत कराया जाएगा। साथ ही भीतरघात करने वालों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई भी की जाएगी।

About Post Author


Spread the love