October 6, 2022

ExpressNews24x7

Leading News Channel Expressnews24x7

नए इरादे , युवा सरकार जिसके आगे “चुनाव आयोग” बेकार

Spread the love

आदर्श आचार संहिता  प्रदेश भर मे  8 जनवरी 2022 से लागू है  पर शायद प्रशासन के नुमाइंदे जिन पार्टियो के झंडे थाम कर हड़ताल करते है अब वो अपनी पार्टी के प्रति वफादारी नौकरी पर रहते तो कर नहीं सकते पर अगर आँख  ही मूँद ली जाये तो किसी का  क्या  जाता है ।

          इस सिद्धान्त पर इस बार चुनाव होते दिख रहे है। नगर निगम के कर्मचारियो की टोलिया हाथ मे चुने की बाल्टी और कूँची लिए पारंपरिक तौर पर चुनावी पार्टियो के इस्तेहार पर पुताई करके उनको मिटाते आपने भी काही न काही देखि होंगी, तो वही एक टोली होर्डिंग , पोस्टर , बैनर को समेटती नज़र आई होंगी पर इस से  ऊपर नगर निगम ने जो बस अड्डो पर डिजिटल विडियो होर्डिंग लगवाई थी  उनपर कार्यवाही करने के लिए टोलियो को ज़िम्मेदारी देना भूल गई। या ये कहे की विधायक क्षेत्र मे विधायक जी की अनुमति के बिना कार्यवाही करना नगर निगम के कानून के विरुद्ध है।

           कारण कोई भी हो प्रशासन कहा है ?  जो  उड़न दस्ता बना कर  प्रदेश भर मे सड़को का  निरक्षण करते घूम रहे है, साहब गौरतलब बात तो ये है की ये वही रास्ते है जिनसे होकर रोज आमजनता से ले कर माननीय, प्रशासनिक अधिकारी-गण सुबह से शाम तलक कई बार गुजरते है और बाहर से आए पर्यटक अपनी गाड़ी रोक कर दूँ की खूबसूरती तो अपने कैमरे मे कैद कर के अपने साथ ले जाते है,  पर जो आम जनता को दिखता है वो खास को कहाँ दिखे भला।

          जहां आदर्श आचार संहिता मे किसी भी प्रकार का राजनीतिक विज्ञापन करना या फिर किसी भी माध्यम से इस का संचालन करना एक अपराधिक गतिविधि मानी जाती है और विज्ञापन मे दिखाई गई पार्टी और उमीदवार  दोनों पर चुनाव आयोग द्वारा सख्त कार्यवाही की जाती है। संगीन दशाओ मे उमीदवार को चुनाव लड़ने पर रोक तक लगा दी जाती है पर प्रदेश की वो दुर्दश हो चुकी है की आज आदर्श आचार संहिता  को लगे सप्ताह भर से ऊपर हो चुका है पर इस ओर जिला प्रशासन का ध्यान नहीं गया जो की देहरादून शहर की प्राइम लोकेशन है जहा दिनभर पुलिस के जवान मुस्तैदी से ट्राफिक संभालते है तथा इस क्षेत्र मे कोई अप्रिय घटना न हो इसलिए नियमित तौर पर गश्त लगाते है जिसके बावजूद खबर लिखे जाने तक राजपुर रोड , राष्ट्रीय दृष्टिबाधित संस्थानदेहरादून  जो की मसूरी रोड भी कहलाई जाती है, के बाहर सड़क किनारे बने बस स्टॉप पर लगे डिजिटल विडियो होर्डिंग पर नहीं गया जिसमे प्रदेश की सत्तारूढ़ दल भारतीय जनता पार्टी  के वर्तमान  मसूरी विधायक माननीय गणेश जोशी जी का प्रचार सरेआम चल रहा है

अब देखना ये है की गलती  प्रशासन से हुई है या विधायक जी की पकड़ का असर है………………….

About Post Author


Spread the love