September 29, 2022

ExpressNews24x7

Leading News Channel Expressnews24x7

ग्राउंड जीरो रिपोर्ट यमुनोत्री विधानसभा

Spread the love

आज न्यूज़ एक्स्प्रेस की टीम ने 2 यमनोत्री विधानसभा क्षेत्र मे पहुंची जहा वर्तमान मे 8 प्रत्याशीयों विधायक पद का पर्चा भरा था पर जनता 3 प्रत्याशियों को विधायक पद का प्रबल दावेदार मान रही है। जिनमे  काँग्रेस प्रत्याशी दीपक  बिजल्वान, वर्तमान भाजपा विधायक केदार सिंह रावत और निर्दलीय उम्मीदवार संजु  के बीच त्रिकोणीय मुक़ाबला होता दिख रहा है,  जब हम इसी बात की तफ़्शीस करने ग्राउंड ज़ीरो पर पहुँचे। जहां हमने वोटरो के मन की बात जाँचने की कोशिश की इसी क्रम मे जब हम आज न्यूज़ एक्स्प्रेस की टीम ने 2 यमनोत्री विधानसभा क्षेत्र मे सुरीखाल ग्राम मे पहुँची जहा की हकीकत जान आप भी हैरान हो जाएँगे पहले भी हमने खुलासा किया था की कैसे काँग्रेस का टिकट पर वर्तमान जिला पंचायत दीपक बीजल्वान ने लूट ख्सूट का खेल खेला जिसकी एसआईटी जांच चल रही है। जिला अधिकारी अपने स्तर पर पहले से ही इन पर कार्यवाही करते हुये पद से बर्खास्त कर चुके है जिसपर दीपक  बिजल्वान ने उल्टा जिला अधिकारी पर झूठे आरोप लगाने का आरोप लगा दिया था मामला फिलहाल नैनीताल उच्च न्यायालय मे विचारणीय है  वर्तमान मे दीपक  बिजल्वान को राहत देते हुये जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर  बहाल करते हुये चल रहे केस की अगली सुनवाई तक ज़मानत दे दी थी एसआईटी जी जांच अभी भी चल रही है  जिसके बाद दीपक  बिजल्वान ने काँग्रेस के टिकट से विधायक पद का दावा करते हुये पर्चा भरा जिसके चलते क्षेत्र मे कॉंग्रेस कार्यकर्ताओ मे आक्रोश दिखा था।

             हमारे सज्ञान मे मामला था इसलिए हम वही पहुँचे जहा से  मुद्दे को सही से समझा जा सके ग्रामसुरी की खाल तोक क्षेत्र  की जनता से बात करते हुये हमे पता चला की जनता का रुझान पार्टियो पर न होकर क्षेत्र मे काम करने वाले प्रत्याशीयों की ओर है। अपने आप को ठगा महसूस करते हुये जनता ने हमको एक विचित्र हैंड पम्प के बारे मे बताया जो सुरीखाल की जनता को जल की समस्या से निजात दिलाता पर, न जाने क्यू ये  हैंड पम्प जादुई तरीके से गायब हो गया है इसको देखने के लिए आप को प्रशासनिक चश्मे की आवश्क्ता होगी। इसी चश्मे को लगाकर संबन्धित विभाग ने पैसो का भुगतान भी कर दिया ।ये महान विभाग है जिला पंचायत जिसका अध्यक्ष यही दीपक  बिजल्वान है  जिसने हैंड पम्प को सड़क किनारे लगवाने की योजना बनाई थी, विभाग को ज़मीन भी मिली पर  हैंड पम्प लगाने का नाम नहीं लिया गया, न जाने किस तरह से बात बाहर आ गई की संबन्धित विभाग के कागजो मे तो हैंड पम्प कब का लगा दिया है कार्यवाही हुईं तो मामला और पेचीदा निकला हैंड पम्प मात्र लगाने मे आने वाले खर्चे का भुगतान संबन्धित विभाग  द्वारा कर भी दिया गया है। पूरी जांच मे ये पाया गया की जनता का पैसा किन मनमानियों के चलते डकारा जा रहा है।

            ऐसे मे आप भी समझ गए होंगे की कई अधिकारियों की मिली भगत से ये गोरख धंधा चल रहा है। इसी क्रम मे अचानक से  मामला न्यायालय मे जाने से जनता बहुत खुश थी की  अब जल्द ही उनकी सुखी हलक को पानी मिलेगा जिससे अपनी और अपने  मवेशीयों की प्यास भूझाई जा सकेगी पर राजनीति न्याय पर भी भरी पड़ी जिसके चलते हालत बद से बदतर होते जा रहे है  छोटे छोटे बच्चे 2 किलोमीटर पहाड़ी मार्ग से नीचे गाद गदेरे से पानी भर कर लाते है जो  दिनमे उनकी जरूरतों को पूरा करता है। ऐसे मे पहाड़ी से नीचे गिरकर कई बच्चे ज़ख्मी हो चुके है।

            जनता अपने बच्चो के शरीर पर पड़े ज़्खम का बदला लेने के लिए अपने वोट के अधिकार का प्रयोग करने की बात करती नज़र आई। ऐसे मे इस क्षेत्र मे मुक़ाबला द्विपक्षी ही नज़र आ रहा है।   

About Post Author


Spread the love